हम खुद डर बना लेते है भूत नहीं होते moral story in hindi for kids


Fear Ghost story moral story in hindi for kids
हम खुद डर बना लेते है भूत नहीं होते moral story in Hindi for kids



एक टीचर सभी बच्चों को अपने जीवन की एक कहानी बताता है टीचर ने कहा जब मैं छोटा था तो  मुझे अंधेरे से बहुत  डर लगता था  क्योंकि यह डर मैंने खुद ही बना लिया था मैंने सुन रखा था कि अंधेरे में भूत होते हैं इसलिए मैं कभी भी अंधेरे में नहीं जाता था
यहां तक कि मैं रात को हमेशा लाइट जला कर सोता था


पहले मुझे अंधेरे से डर नहीं लगता था एक बार क्या हुआ जब मैं 5 साल का था तभी रात को अपने दोस्तों के साथ खेल रहा था खेलते खेलते लाइट थोड़ी देर के लिए चली गई तो सारे घर में अंधेरा ही अंधेरा दिखाई देने लगा

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

मेरे सारे दोस्त मेरे पास आकर हाथ को पकड़ कर कहने लगे अभिषेक हमारे मम्मी पापा कहते हैं अंधेरे में भूत होते हैं मैंने कहा कौन से भूत तब दोस्त ने कहा क्या तुमने भूत के बारे में नहीं सुना मैने कहा नहीं तो दोस्तों ने कहा भूत बहुत डरावने होते हैं

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

उनके बड़े बड़े दांत होते हैं और बड़े बड़े नाखून होते हैं और वे बच्चों को अंधेरे में खा जाते है उनकी बाते सुनकर मुझे भी डर लगने लगा   मेरे मन में भी भूतों की  छवि  बनने लगी मुझे भी वैसे ही डरावनी चीजें मन में आने लगी जैसा दोस्तों ने मुझे बताया वैसा मैं भी अनुभव करने लगा बिना कुछ जाने समझे में भी उनकी बातों पर यकीन करने लगा  

 
Fear Ghost story moral story in hindi for kids
हम खुद डर बना लेते है भूत नहीं होते moral story in hindi for kids
फिर क्या मुझे भी अंधेरे से डर लगने लगा तुरंत देर बाद लाइट आ गई लेकिन मेरा डर बना ही रहा मेरे दिमाग में बस भूतों के विचार आ रहे थे  जैसा मुझे दोस्तों ने बताया था अब तो अंधेरा मेरी कमजोरी बन गया जब भी रात होती तो मुझे डर सताने लगता  ऐसे ही कुछ दिनों तक चलता रहा लेकिन मेरा डर ख़त्म नहीं हुआ 

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

एक रात मैंने माँ से कहा माँ मुझे आपके साथ सोना है मुझे अंधेरे से डर लगता है माँ कहने लगी बेटा तुम्हें पहले तो अंधेरे से डर नहीं लगता था मैंने कहा माँ अंधेरे में भूत होते हैं आप नहीं जानती वह बच्चों को अंधेरे में कच्चा खा जाते हैं और उनका खून पी लेते हैं 

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

तब माँ मेरी बाते सुनकर बहुत जोर से हंसने लगी और कहने लगी तुम्हें किसने कहा कि अंधेरे में भूत होते हैं मैंने कहा मां दोस्तों ने मां ने कहा तुम्हारी दोस्त झूठ बोलते हैं अंधेरे में मैंने तो कभी कोई भूत नहीं देखा है

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

मैंने कहा मां आप झूठ बोल रहे हो अंधेरे में भूत होते हैं फिर क्या मां ने कमरे की लाइट बंद कर दी तो कमरे में अंधेरा ही अंधेरा हो गया और फिर माँ ने एक मोमबत्ती जलाई और मुझसे कहा मुझे बताओ कहां है भूत मैंने चारों तरफ देखा तो मुझे बस अंधेरा ही अंधेरा दिखाई दे रहा था कोई भूत नहीं था अंधेरे में 

Fear Ghost story moral story in hindi for kids

तब माँ ने कहा बेटा अब तो  पता चला अंधेरे में कोई भूत नहीं होते वह तो हमारे मन में या दिमाग में जो नकारात्मक ( भूत ) विचार घूमते रहते हैं वही भूत बनकर आ जाते हैं
तब मुझे सारी बात समझ में आ गई अब मुझे यकीन हो गया अंधेरे में कोई भूत नहीं होते है 

सीख हम भी कभी इसी बच्चे की तरह हो जाते हैं जो बिना जाने समझे अपने अंतर डर बना लेते हैं और हमेशा डरते रहते हैं इससे अच्छा तो है हम खुद उस चीज का अनुभव करें









हम खुद डर बना लेते है भूत नहीं होते moral story in hindi for kids हम खुद डर बना लेते है भूत नहीं होते moral story in hindi for kids Reviewed by Sweet stories on November 24, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.