परमात्मा का ध्यान :spiritual story in hindi



Divine attention spiritual story in hindi
परमात्मा का ध्यान : spiritual story in Hindi



एक व्यक्ति था जब भी भगवान की पूजा करने बैठता तो उसका ध्यान भगवान में नहीं लगता था काम क्रोध मोह वासनाओं की तरफ उसका ध्यान जाता 

Divine attention spiritual story in hindi

जब भी  वह ध्यान लगाता तब तब उसके साथ ऐसा होता अब वह सोचने लगा इन गंदे विचारों को मन में आने से कैसे रोका जाए जिससे भगवान का ध्यान अच्छे से कर सकूं अब बड़ा परेशान रहने लगा एक  दिन क्या हुआ उसी गांव में एक महान संत आए जिनकी चर्चा दूर-दूर तक थी 


तो वह व्यक्ति भी अपनी समस्या लेकर संत के पास गया उस व्यक्ति ने संत को सारा मन का हाल बता दिया की जब भी मैं भगवान का ध्यान करता हूं तो मेरे मन में ना जाने कहां से गंदे विचार आने लगते हैं जिससे में भगवान का ध्यान नहीं कर पता हूँ 

Divine attention spiritual story in hindi

तब संत उसे एक पारदर्शी शीशे की खिड़की के पास लेकर गये उन संत ने उस व्यक्ति से पूछा तुम्हें इस शीशे में क्या दिखाई दे रहा है उस व्यक्ति ने कहा मुझे बाहर का सारा दृश्य दिखाई दे रहा है एक पेड़ है उस पर चिड़िया बैठी हैं कुछ पंछी उड़ कर वहां से दूर जा रहे हैं

Divine attention spiritual story in hindi

इसके बाद संत उसे दूसरी शीशे की खिड़की के पास ले गए जिसका शीशा आईने की तरह था फिर संत ने  तुम्हें अब क्या दिखाई दे रहा है उस व्यक्ति ने कहा मुझे तो सिर्फ अपना चेहरा ही दिखाई दे रहा है  

Divine attention spiritual story in hindi

तब संत ने उसे समझाया तुम्हारे मन के चारों तरफ भी एक आईने की तरह शीशा है इसलिए जब भी तुम ध्यान लगाते हो तो तुम्हें खुद में उपस्थित काम क्रोध वासना  गंदे विचार तुम्हें दिखाई देती है तुम वासना    रूपी खिड़की को हटाकर अपने मन को पारदर्शी खिड़की की तरह बना लो फिर देखना जब भी ध्यान में बैठोगे तो तुम उस परमात्मा का ध्यान अच्छे से कर सकोगें 



परमात्मा का ध्यान :spiritual story in hindi परमात्मा का ध्यान :spiritual story in hindi Reviewed by Sweet stories on November 26, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.